Uttarakhand Tunnel Rescue: 40 नहीं, 41 श्रमिक टनल में फंसे है, रेस्क्यू की कोशिश जारी है, पहाड़ दरकने की आवाज से मची अफरातफरी|

उत्तराखंड(Uttarakhand) टनल हादसे में फंसे मजदूरों को निकालने के लिए लगातार सातवें दिन कोशिश जारी है, गौर करने वाली बात ये है कि इस टनल में 40 नहीं 41 मजदूर फंसे हैं। इस रेस्क्यू ऑपरेशन में कई मुसीबतें आ रही हैं। कभी पहाड़ दरक रहे हैं तो कभी मशीन खराब हो जा रही है। रात अचानक सुरंग के भीतर पहाड़ दरकने की तेज आवाज सुनाई दी।

सिल्क्यारा(Uttarakhand) सुरंग हादसे में फंसे हैं 41 श्रमिक

उत्तराखंड(Uttarakhand) के सिल्क्यारा सुरंग में फंसे श्रमिकों की संख्या 41 है। इन सभी को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए लगातार सातवें दिन भी कोशिश जारी है। ये रेस्क्यू ऑपरेशन हर रोज कठिन होता जा रहा है। कभी पहाड़ दरक जा रहा है, तो कभी मशीन खराब हो जा रही है।

श्रमिकों को बाहर निकालने के लिए चल रहे बचाव अभियान में लगातार चुनौती पेश आ रही है। शुक्रवार को निकासी सुरंग बनाने के लिए पाइप बिछाने के दौरान एकाएक सुरंग के भीतर पहाड़ दरकने की तेज आवाज सुनाई दी। इससे बचाव दल के सदस्यों व अन्य व्यक्तियों में हड़कंप मच गया। जिसके बाद आनन-फानन बचाव अभियान के साथ सुरंग में आवाजाही रोक दी गई।

निकासी सुरंग की प्रगति के साथ बढ़ रही उम्मीद

सिल्क्यारा सुरंग में फंसे श्रमिकों को बाहर निकालने के लिए जैसे-जैसे पाइप बिछाए जा रहे हैं, वैसे-वैसे श्रमिकों और उनके स्वजन का हौसला भी बढ़ रहा है। सुरंग में 125 मिमी व्यास का एक पाइप और भी डाला जा रहा है, जिससे श्रमिकों को खाद्य पदार्थों की आपूर्ति सही ढंग से की जा सके। फिलहाल, श्रमिकों को सुरंग में पहले से बिछे 80 मिमी व्यास वाले पानी निकासी के पाइप से खाद्य पदार्थ, ऑक्सीजन व अन्य जरूरी वस्तुएं उपलब्ध कराई जा रही हैं।

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version